मंगलवार, 30 नवंबर 2010

ये कविता नहीं, खबर है

खबर आई है
अनुज यादव बेमौत मर गया
कि टीबी की शिकार बीबी पद्मा का इलाज
कि घर का खर्चा
कि 11वीं में पढ़ रहे बेटे की पढ़ाई का खर्चा
आधा एकड़ खेत से निकाल न पाया
12 हजार 641 रुपए का कर्जा
पर 28 हजार 333 रुपए का ब्याज चढ़ा
और बैंक ने 40 हजार 974 रुपए पटाने की नोटिस भेज दी
ढाई एकड़ में से दो एकड़ खेती चढ़ गई गिरवी
बचे आधे एकड़ में जी न पाया तो मर गया
देवभोग के सरईपानी का अनुज बेमौत मर गया


खबर है कि कलेक्टर साहब जांच कर रहे हैं
देशभर में विकास के लिए अव्वल राज्य में
कोई किसान कर्जे से
ऐसे कैसे मर सकता है
सरकार सन्न हैं, मंत्री गंभीर
कैमरे यहां-वहां तन गए हैं
पिपली यहां कैसे लोकेट हो रही है भाई
देवभोग के सरईपानी गांव में
कहीं ये नक्सलियों की साजिश तो नहीं
बंदूक लिए घूम रहे हैं नये इलाकों में
सरकार के खिलाफ दुष्प्रचार करते
देवभोग की हीरा खदानों को हथियाने के फेर में
जांच जारी है
रिपोर्ट आने में अभी देर है शायद

1 टिप्पणी: