मंगलवार, 17 अगस्त 2010

इधर है नत्था

पिपली लाइव की जबर्दस्त सफलता के बाद नत्था यानी ओंमकारदास मानिकपुरी पहली बार अपने घर छत्तीसगढ़ आए हैं। .

2 टिप्‍पणियां:

  1. नए हिंदी ब्लाग के लिए बधाइयाँ और स्वागत। उत्तम लेखन है… लिखते रहिए। अन्य ब्लागोँ पर भी जाइए जिनमें मेरे ब्लाग भी हैं…
    “पारिजात”: http://harishjharia.wordpress.com/
    “Discover life”: http://www.harishjhariasblog.blogspot.com/
    “Human Tribe”: http://harishjhariasblog2.blogspot.com/
    “Hi-Tech Hub”: http://harishjhariasblog3.blogspot.com/

    उत्तर देंहटाएं